FULL_FORM_OF_GDP_GDP_ क्या_ है

FULL_FORM_OF_GDP_GDP_ क्या_ है ? 

FULL_FORM_OF_GDP_GDP_ क्या_ है

नमस्कार दोस्तों www.askfullforminhindi.com में आपका स्वागत है आपने जीडीपी का नाम कई बार सुना होगा की जीडीपी गिर रहा है या GDP बढ़ रहा। लेकिन आपको पता है GDP क्या है , जीडीपी की फुल फॉर्म क्या है यदि नहीं तो आप बिलकुल सही जगह पर  आये हैं।  यहाँ आपको जीडीपी क्या है और   FULL FORM  OF GDP के बारे में पता चलेगा। 

GDP क्या है :

जीडीपी का अर्थ ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट है हिंदी भाषा में इसे सकल घरेलू उत्पाद कहा जाता है| किसी देश की अर्थव्यवस्था को मापने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है, इसको इस प्रकार से समझा जा सकता है, किसी भी देश की सीमा रेखा के अंदर उत्पादित वस्तु और सेवा का बाजार में मूल्य कितना है, मूल्य अधिक होने पर देश के अंदर विदेशी मुद्रा अधिक आएगी जिससे देश तेज गति से विकास कर सकेगा यदि उत्पादित वस्तु और सेवा का मूल्य कम है, तो उस देश की आर्थिक स्थिति सही नहीं है|
ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) किसी भी देश की आर्थिक सेहत को मापने का पैमाना या जरिया है। आपको बता दें कि भारत में जीडीपी की गणना प्रत्येक तिमाही में की जाती है। जीडीपी का आंकड़ा अर्थव्यवस्था के प्रमुख उत्पादन क्षेत्रों में उत्पादन की वृद्धि दर पर आधारित होता है। जीडीपी के तहत कृषि, उद्योग व सेवा तीन प्रमुख घटक आते हैं। इन क्षेत्रों में उत्पादन बढ़ने या घटने के औसत के आधार पर जीडीपी दर तय होती है।

FULL FORM OF GDP

Gross Domestic Product
सकल घरेलू उत्पाद

 GDP कैसे मापते है? 

अक्सर समझ सुनने में आता है कि भारत की GDP या आर्थिक विकास दर घट कर  7 % रहे गयी है। या फिर GDP बढ़कर 9 % हो गयी है। ये तो सभी ने सुना होगा लेकिन फिर मन मे सवाल आता है कि आख़िर GDP कैसे निकालते है? तो दोस्तों  अब आपको इसके लिए परेशान होने की बिल्कुल भी जरूरत नही है क्योंकि GFP मापने के बिल्कुल simple तरीका है। जिसके बारे में हमने सरल तरीके से समझाया है-

GDP मापने का Formula ( फार्मूला ) :
GDP = खर्च+निवेश+सरकारी खर्चे+कुल निर्यात

जीडीपी के प्रकार (Types of GDP) : 


जीडीपी की गणना करने में देश के अंदर वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य की गणना की जाती है| समय के अनुसार इन वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य में परिवर्तन होता रहता है, जिसके लिए जीडीपी की गणना करना थोड़ा सा कठिन होता है, इसके लिए टैक्स के आधार पर कई अप्रत्यक्ष और औसत गणना की जाती है, जीडीपी दो प्रकार की होती  है-

1. कॉन्टेस्ट प्राइस
2. करेंट प्राइस

1. कॉन्टेस्ट प्राइस : 

हमारे देश में (भारत) मे हर साल उत्पादन और सेवाओं के लिए एक डेटा तैयार किया  जाता है जिसमे साल में उत्पादन की जाने वाली सभी प्रोडक्ट में जो भी बदलाव होते है, उन सभी को ध्यान में रखकर इसको बनाया जाता है। मतलब की हम कहे सकते है कि हर साल वर्तमान में प्रोडक्ट की कीमत के आधार पर प्रोडक्ट की तुलनात्मक वृद्धि तय की जाती है जिसे हम कांस्टेंट प्राइस जीडीपी कहते है।

2. करेंट प्राइस: 

इसके अंतर्गत  सिंपल प्रोडक्ट की कांस्टेंट प्राइस जीडीपी को तत्कालीन प्रोडक्ट की महंगाई दर के साथ जोड़ दिया जाता है। जिसे हम करेंट जीडीपी कहते है।  

आपने आज क्या सीखा : मित्रो और बड़े भाइयों  मुझे उम्मीद है कि आपको मेरा आर्टिकल FULL FORM OF GDP आपको पसंद आया होगा , मेरी हमेशा यही कोशिश रहती है कि रीडर को फुल फॉर्म ऑफ़ GDP (FULL FORM OF GDP) के विषय में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान कि जाए जिससे आपको इस विषय ( फुल फॉर्म ऑफ़ GDP ) के लिए  दूसरी साइट्स या इंटरनेट पर जाना ना पड़े |
यदि आपके मन में इस आर्टिकल को लेकर कोई सुझाब या डॉट है तो आप कमेंट बॉक्स मैं बता सकते हैं,
और यदि आपको फुल फॉर्म ऑफ़ जीडीपी, जीडीपी क्या है,(FULL FORM OF GDP ) पसंद आया हो तो कृपया इसे सोशल नेटवर्किंग जैसे ट्वविटर(TWITTER ) , फेसबुक (FACEBOOK), इंस्टाग्राम (INSTAGRAM)  पर शेयर जरूर करें


Comments

Popular posts from this blog

FULL FORM OF CCTV IN HINDI(CCTV की फुल फॉर्म क्या है)

FULL FORM OF OYO IN HINDI ( OYO KYA HAI )

FULL FORM OF MBBS (MBBS क्या होता है )